APY Atal pension yojana scheme अटल पेंशन योजना ऑनलाइन आवेदन

Atal pension yojana: जानिए क्या है अटल पेंशन योजना ( APY) का लाभ कैसे उठाये


अटल पेंशन योजना विशेष तौर पर कमजोर आय वर्ग वालों को ध्यान में रखकर उनके बेहतर भविष्य के लिए शुरू की गई है। इस योजना के द्वारा असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले और मजदूरों को जीवन भर की पेंशन प्रदान करने के लिए शुरू की गई थी। Atal pension yojana के तहत, 60 वर्ष की उम्र में 1000/- या 2000/- या 3000/-या 4000/- या 5000/- प्रतिमा रुपए की न्यूनतम पेंशन की गारंटी ग्राहक द्वारा योगदान के आधार पर दिया जायेगा। भारत सरकार ने अटल पेंशन योजना (APY) को मई 2015 में शुरू किया था। इससे पहले असंगठित क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों के लिए इस तरह की कोई सरकारी योजना नहीं थी।

पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ने Atal pension yojana में बड़ा बदलाव किया है। नए नियमों के तहत इस पेंशन योजना के ग्राहक साल में कभी भी एक बार पेंशन राशि को बढ़ा या घटा सकेंगे यह इनकम बढ़ने या घटने के आधार पर हो सकती है इस नियम का सीधा फायदा करीब 2.28 करोड़ ग्राहकों को मिलेगा।

India Sarkari Yojana

अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता- Eligibility for Atal Pension yojana

  • APY के लिए ग्राहक भारत के नागरिक होने चाहिए।
  • अटल पेंशन योजना में प्रवेश की न्यूनतम आयु 18 वर्ष है, और अधिकतम प्रवेश की आयु 40 वर्ष है।
  • Atal pension yojana के लिए डाक घर या बैंक में बचत खाता होना चाहिए।
  • एक व्यक्ति केवल एक अटल पेंशन योजना खाता खोल सकता हैं।
  • अगर आपका प्रोविडेंट फंड अकाउंट (EPF,PPF,GPF) या NPS खाता पहले से ही है तो आप अटल पेंशन योजना खाता खोल सकते हैं।
  • अगर आप सरकारी कर्मचारी हैं तब भी अटल पेंशन योजना (APY) खाता खोल सकते हैं।
  • Atal pension yojana (APY) का लाभ उन्हीं लोगों को मिल सकता है जो इनकम टैक्स दायरे से बाहर हैं।

अटल पेंशन योजना खाता कैसे खोलें (How to open Atal Pension Yojana Account)

  • अटल पेंशन योजना के आवेदन के लिए आप निकटतम बैंक की शाखा में जा सकते हैं।
  • APY आवेदन के लिए आप सभी सरकारी बैंक में जाकर यह खाता खोल सकते हैं।
  • अगर आप अटल पेंशन योजना का ऑनलाइन खाता खोलना चाहते हैं, तो आप एनपीएस पोर्टल के जरिए खाता खोल सकते हैं।
  • Atal Pension Yojana में खाते के लिए आपके पास आधार कार्ड होना चाहिये।
  • अटल पेंशन योजना के ऑनलाइन अकाउंट खोलने के लिए आप इस लिंक (https://enps.nsdl.com/eNPS/ApySubRegistration.html) पर जाएं। फिर APY Application पर क्लिक करें। फिर New Registration को सलेक्ट करे।
  • इसके बाद आपको अपने बैंक अकाउंट की डिटेल्स, मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी भी डालना होगा।
  • साथ में आपको वर्चुअल आईडी डालना होगा। Virtual ID आप के आधार कार्ड का ही स्वरूप है।
  • उसके बाद आपके आधार कार्ड में पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा।
  • OTP डालकर सबमिट करने पर आपको Acknowledgement number भी मिलेगा। यह नंबर आपके मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर भेजा जाएगा इस Acknowledgement number का इस्तेमाल आप बाद में एप्लीकेशन भरने के लिए भी कर सकते हैं।
  • इसके बाद आपको अपने पेंशन के बारे में जानकारी देनी होगी जैसे कि आप कितनी पेंशन चाहते हैं (₹1000 से ₹5000 तक)और आप बैंक से पैसा कब काटना चाहिए तिमाही अर्धवार्षिक)।
  • आपको यह भी बताना होगा कि आप विवाहित है या नहीं। आप इनकम टैक्स देते हैं या नहीं।
  • संबित करने के बाद आपको अपने नॉमिनी के बारे में जानकारी देनी होगी।
  • इसके बाद आप अपने फोन को आधार OTP की सहायता से e-sign कर सकते हैं या फॉर्म को NSDL के ऑफिस में डाक सेवा द्वारा भेज सकते हैं।
  • एक बार आपने अपने फॉर्म सबमिट कर दिया तो उसके बाद आप की जानकारी बैंक को भेज दी जाएगी।
  • बैंक के वेरिफिकेशन के बाद आपका Atal Pension Yojana Account चालू हो जाएगा। बैंक द्वारा वेरीफिकेशन इसलिए जरूरी है क्योंकि अटल पेंशन योजना के योगदान के लिए आपके बैंक खाता में से पैसा अपने आप कट जाता है इसलिए खाता खोलते समय आपका बैंक खाता सही होना चाहिए।

Atal Pension Yojana in Hindi में पढ़ने के साथ साथ आप इन लेख को भी हिन्दी में पढ़े|

अटल पेंशन योजना के अंतर्गत आपको कितनी पेंशन मिलेगी? (Atal Pension Yojana Benefits)

  • अटल पेंशन योजना के अंतर्गत मिलने वाली पेंशन आपकी योगदान राशि और योगदान में प्रवेश की आयु पर निर्भर करती है। सरकार ने पूरा Atal Pension Yojana चार्ट भी प्रदान किया है।
  • एक निश्चित स्तर की पेंशन हासिल करने के लिए आवश्यक मासिक निवेश आपकी उम्र के साथ बढ़ेगा।
  • एक उदाहरण की सहायता से हम समझ सकते हैं कि 35 साल की उम्र में प्रवेश करने वाले निवेशक को 60 वर्ष की उम्र के बाद ₹5000 प्रति माह पेंशन पाने के लिए ₹902 प्रति माह 60 वर्ष की आयु तक निवेश करना होगा। यदि ऐसा व्यक्ति साथ के बाद प्रतिमाह केवल ₹3000 की पेंशन चाहता है तो उसे प्रतिमाह ₹543 निवेश करने की आवश्यकता है।

अटल पेंशन योजना के फायदे या लाभ (Atal Pension Yojana ke fayde ya labh)

Atal Pension Yojana ke fayde ya labh
  • अटल पेंशन योजना के तहत न्यूनतम पेंशन की इस अर्थ में सरकार की गारंटी होगी कि यदि पेंशन योगदान पर वास्तविक रिटर्न अंशदान की अवधि के दौरान कम हुआ तो इस तरह की कमी को सरकार द्वारा वित्त पोषित किया जाएगा। दूसरी तरफ यदि पेंशन योगदान पर वास्तविक रिटर्न न्यूनतम गारंटी पेंशन के लिए योगदान की अवधि में रिटर्न की तुलना में अधिक है तो इस तरह के अतिरिक्त लाभ ग्रह के खातों में जमा किया जाएगा जिससे ग्राहक को बढ़ा हुआ योजना लाभ मिलेगा।
  • APY मैं निवेश से रिटायर होने के बाद आप प्रत्येक माह पेंशन के हकदार हो सकते हैं। Atal pension yojana की सबसे बड़ी खासियत यह है कि अगर आपकी असामयिक मृत्यु हो जाती है तो आपके परिवार को फायदा जारी रखने का प्रावधान है।
  • अटल पेंशन योजना में निवेश करने वाले व्यक्ति की मृत्यु होने पर उसकी पत्नी को और पत्नी की भी मृत्यु होने की स्थिति में बच्चों को जमा संचित राशि मिलने का प्रावधान है।
  • APY में निवेश के दौरान अगर आपके बैंक खाते में पर्याप्त धन नहीं है, तो आप अगले महीने की किश्त के साथ आपके खाते से पैसा काटा जाएगा। साथ में आपको थोड़ा जुर्माना भी देना होगा। यह जुर्माना 1 रूपया प्रति 100 रुपए की किश्त जमा न करने पर होगा।

अटल पेंशन योजना में सरकार का सह योगदान

  • अटल पेंशन योजना के लिए केंद्र सरकार प्रति वर्ष आपके कुल वार्षिक योगदान का 50% भी योगदान देगी। पर इसके लिये सरकार के भुगतान की अधिकतम सीमा 1,000 रुपये प्रति वर्ष ही होगी। और सरकार केवल 5 वर्षों तक यह योगदान करेगी। वित्त वर्ष 2016 से वित्त वर्ष 2020 तक।
    केन्द्र सरकार के योगदान की कुछ शर्तें हैं-
  • इसके लिये आपको 31 मार्च, 2016 से पहले इस योजना में शामिल होना चाहिए।(इसका मतलब अब नए खोले गए खातों में सरकार योगदान नहीं करेगी)
  • आप आयकर दाता नहीं होना चाहिए।
  • आप सरकार की किसी भी सामाजिक सुरक्षा योजना के अंतर्गत कवर नहीं किया जाना चाहिए, जैसे कि नीचे दी ग्यी है।
    • कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम, 1952 (EPF)
    • कोयला खान भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम, 1948
    • असम चाय बागान प्रोविडेंट फंड और विविध प्रावधान, 1955
    • सीमेंस प्रॉविडेंट फंड एक्ट, 1966
    • जम्मू कश्मीर के कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम, 1961
    • इनके अलावा सरकार की अन्य कोई वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजनाएं।

अन्य संबंधित जानकारी-

  • धारा 80 C(1) के तहत, आप अपनी वार्षिक आय के 20% तक के लिए Atal Pension Yojana में निवेश के लिए टैक्स बेनिफिट ले सकते हैं। यह अधिकतम 1.5 लाख प्रति वित्तीय वर्ष)।
  • धारा 80 CCD (1B) के तहत, आप अटल पेंशन योजना में निवेश के लिए ₹50 हजार तक का एक अतिरिक्त कर लाभ उठा सकते हैं।

अटल पेंशन योजना में अगर निवेशकर्ता की मृत्यु 60 वर्ष की उम्र से पहले हो जाने की स्थिति में

  • 60 वर्ष की आयु से पहले निवेशक की मृत्यु की स्थिति में, निवेश करता के पति या पत्नी को उसके खाते में योगदान करने का एक विकल्प दिया जाएगा। ऐसा खाता पति या पत्नी के नाम पर बनाये रखा जाएगा। पति या पत्नी बाकी अवधि के लिए पेंशन खाते में योगदान कर सकते हैं, जब तक की मूल निवेशक की आयु 60 वर्ष पूर्ण में हो जाए।
  • APY में यह एक मजेदार बात है कि खाता परिपक्वता अभी भी मूल निवेशक की उम्र पर निर्भर करता है, न की पति या पत्नी की आयु पर। अगर निवेशक  55 वर्ष का है और उसका निधन हो जाता है। मान लिए पत्नी की आयु 50 वर्ष है, ऐसी स्थिति में खाता केवल 5 साल ही और चलाना पड़ेगा, न की 10 साल।
  • ऐसा करने पर, पत्नी को जीवन भर प्राप्त होगी। पत्नी की मृत्यु के बाद, सारी पेंशन जमा राशि  (परिपक्वता के समय के अनुसार) नामांकित व्यक्ति (बेटे अथवा बेटी) को दे दी जायेगी|
  • यदि पत्नी या पति खाते को जारी रखने का विकल्प नहीं सुनते हैं तो संचित धन पति या पत्नी को दे दिया जायेगा।
  • अगर निवेशक अविवाहित है या पति या पत्नी जीवित नहीं है, तो जमा राशि नामांकित व्यक्ति को दे दी जायेगी।

अटल पेंशन योजना में अगर निवेशक की मृत्यु 60 वर्ष की आयु के बाद होती है?

  • निवेश की मृत्यु के बाद पति या पत्नी को पेंशन जारी रहेगी।
  • उसके बाद जब पति या पत्नी की मृत्यु हो जाती है, जमा राशि (60 वर्ष की आयु में आपकी पेंशन कार्पस में थी) आपके नामांकित व्यक्ति(बेटा या बेटी)को दे दी जाएगी।
  • अगर पति या पत्नी की मृत्यु निवेशक से पहले हो चुकी है और फिर निवेशक का निधन को जाता है, तो पेंशन कार्पस (60 वर्ष की आयु में आपका पेंशन कार्पस) नामांकित व्यक्ति को दे दिया जाएगा।

अटल पेंशन योजना खाता बंद कैसे करें? (Voluntary Exit From APY)

Atal pension yojana: जानिए क्या है अटल पेंशन योजना ( APY) का लाभ कैसे उठाये 1

60 वर्ष की आयु से पहले मृत्यु या किसी गंभीर बीमारी के इलाज के लिए अटल पेंशन योजना खाता बंद किया जा सकता है।

  • अगर आपसे अटल पेंशन योजना खाता में योगदान करने में सामर्थ्य न हो या पैसे की जरूरत होने पर भी बंद कर सकते हैं।
  • Atal Pension Yojana khata बंद करने पर आपको अपना योगदान और उस पर मिले रिटर्न को लौटा दिया जाएगा।
  • यदि कोई निवेशक , जो कि सरकारी सह-योगदान का लाभ उठा चुके हैं, और 60 वर्ष की आयु से पहले स्वेच्छा से बाहर निकल जाने का विकल्प चुनता है, तो उसे अपने योगदान और उस पर मिला रिटर्न लौटा दिया जाएगा (योजना का शुल्क घटा कर)। लेकिन ऐसी स्थिति में सरकार द्वारा दिया गया योगदान और उस पर मिले रिटर्न नहीं दिए जाएंगे

Leave a Comment